myjyotish

7678508643

   whatsapp

8595527218

Whatsup
  • Login

  • Cart

  • wallet

    Wallet

Home ›   Photo Gallery ›   Astrology Blogs ›   Lohri 2022: origin significance and its story

Lohri 2022: know more about the origin and significance of the festival

Aishwarya Keshari MyJyotish Expert Updated Thu, 13 Jan 2022 09:13 AM IST
Lohri Festival
1 of 4
Know these rituals and mythological significance related to Lohri festival which make this festival so special
The festival of Lohri is celebrated with enthusiasm all over India after leaving the Punjab province of India. It is one of the most important folk traditional festivals of India, which is celebrated every year on 13 January, which is considered to be a message of the arrival of the new year and the end of winter. Lohri is not only one of the most important festivals of Punjab but is also celebrated in Delhi, Jammu and Kashmir and other states. Various types of cultural programs are held on this festival. Lohri is celebrated as a community festival. Lohri is called Lohi in the rural areas of Punjab, a different form of this festival is seen in the form of Makar Sankranti and Bhogali Bihu all over India.

Free Tools

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy and Terms and Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
X